होम चाणक्य नीति

चाणक्य नीति

ऐसी कौनसी चीज है जो होते हुए भी कोई...

आचार्य चाणक्य ने जीवन में काम आने वाली ऐसी 4 वस्तुओं व गुणों के बारे में चर्चा की है, जिन का सदुपयोग ना होने पर वह व्यर्थ हो जाती है, उनका कोई भी मोल नहीं रह जाता है।

मनुष्य को जीते जी आग में जलाती है यह...

आचार्य चाणक्य ने किसी मनुष्य को जीते-जी जलाने वाली 6 परिस्थितियों का वर्णन किया है, वे परिस्थितियां ....

तीन सूत्रों को सीख लो नहीं तो दर दर...

आचार्य का कहना है कि हमें किसी व्यक्ति के उचित परीक्षण के उपरांत ही, उस से मित्रता करनी चाहिए और विवाह करने के लिए, कन्या के कुल की जानकारी लेनी चाहिए ना की उसके सौदर्य की।

तेज दिमाग वाले लोग ये 4 बाते हमेशा जानते...

हम अपने जीवन में अच्छे और बुरे दोनों प्रकार के लोगों से, कोई ना कोई सीख ग्रहण कर सकते हैं, क्योंकि हमारे जीवन में हर दिन हमारा परिचय कई प्रकार के लोगों से होता रहता है...

कलयुग में जल्दी सफलता दिलाने वाले 9 सूत्र

नीति-शास्त्र में जीवन के यथार्थ और आदर्श दोनों का सामंजस्य रखते हुए, आचार्य चाणक्य द्वारा ऐसे सूत्रों की रचना की गई है, जो जीवन में सफलता प्रदान करने के लिए, बहुत उपयोगी व लाभदायक हो सकते हैं।

इन चार से मिलता है केवल क्षण भर का...

विद्वान आचार्य चाणक्य ने, अपने नीति-शास्त्र में ऐसी 4 वस्तुओं या चीजों के बारे में जानकारी दी है, जिनसे हमें केवल कुछ क्षणों के लिए ही आनंद प्राप्त होता है, उसके पश्चात इन का प्रभाव समाप्त हो जाता है।

लोग आपके तलवे चाटेंगे ये 7 काम कर...

आचार्य ने व्यक्ति की व्यवहारिक जीवन से जुड़ी कुछ ऐसी बातों को स्पष्ट किया है, जिसे हमें कभी नहीं भूलना चाहिए। इन बातों को याद रख कर, हम जीवन की समस्याओं का निराकरण कर सकते हैं, और सफलता प्राप्त कर सकते हैं।

इन पांच व्यक्तियों के बीच मे से भूलकर भी...

आचार्य चाणक्य ने अपने नीति-शास्त्र में स्पष्ट किया है कि कभी भी इन 5 चीजों के बीच से निकलना उचित नहीं होता है, इसके परिणाम हानिकारक हो सकते हैं।

नया काम शुरू करने से पहले ये 8 बातें ...

नीति-शास्त्र के ज्ञाता होने के साथ-साथ, आचार्य चाणक्य एक विद्वान, कुशल व विख्यात अर्थशास्त्री भी थे, उनकी लिखी गई नीति-शास्त्र के सूत्र आज के...

ब्राह्मण, राजा और स्त्री की सबसे बड़ी शक्ति ...

आचार्य चाणक्य के नीति-शास्त्र के अनुसार, अपने कार्यों को पूर्ण करने के लिए, प्रत्येक व्यक्ति चाहे वह स्त्री हो या पुरुष, के पास कोई ना कोई प्रमुख शक्ति अवश्य होती है। आचार्य ने इन्हीं शक्तियों के...
- Advertisement -

सबसे लोकप्रिय