Vitamin B2 के कमी के फायदे, लक्षण, उपचार और आहार | Vitamin B2 deficiency

0
696

विटामिन बी2 या राइबोफ्लेविन प्राकृतिक रूप से प्रचुर मात्रा में पोर्क, मिल्क चिकन, अंडे(एग्स), डेयरी प्रोडक्ट्स(जैसे-दूध, दही, पनीर आदि), ब्रोकली, शिमला मिर्च, बेरी, हरे मटर, एप्पल (सेव), अंजीर, केला, गाजर, आलू, ऐस्पैरागस आदि में उपस्थित होता है। यह विटामिन बी2 प्रमुख रुप से शरीर में फोलिक एसिड और अन्य खनिजों के उचित प्रकार से अवशोषण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इस प्रकार विटामिन बी2 कई प्रकार से, हमारे शरीर के लिए महत्वपूर्ण व आवश्यक छोटे-छोटे कार्यों को संचालित करने में सहायक होता है। इसके साथ ही यह, थायराइड ग्रंथि और एंडोक्राइन ग्रंथि की उचित कार्य-प्रणाली की देखरेख करके मेटाबोलिज्म(चयापचय) को नियंत्रित करने का कार्य भी करता है।

शरीर में ऊर्जा उत्पादन में उपयोगी है

विटामिन बी- समूह (बी-काम्प्लेक्स) का एक प्रमुख सदस्य विटामिन बी2 भी है, जिसे राइबोफ्लेविन के नाम से जाना जाता है। यह राइबोफ्लविन हमारे शरीर के लिए आवश्यक उर्जा के उत्पादन करने का कार्य करता है, क्योंकि यह राइबोफ्लेविन हमारे शरीर में खनिजों का अवशोषण और चयापचय (मेटाबॉलिज्म) को नियंत्रित करने में प्रभावी भूमिका निभाता है, और इस प्रक्रिया के द्वारा ऊर्जा उत्पादन में सहायक होता है।

प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि करता है

विटामिन बी2 या राइबोफ्लेविन शरीर में चयापचय की क्रिया को नियंत्रित करने के साथ ही, हमारे पाचन प्रणाली की देख-रेख के लिए भी जिम्मेदार होता है, और पाचन-प्रणाली के उचित संचालन के द्वारा, यह शरीर के रोग प्रतिरोधक प्रणाली या प्रतिरक्षा-तंत्र के उचित कार्यों को बढ़ावा देने में सहायक होता है और उसे मजबूत बनाता है।

स्वस्थ ह्रदय के लिए लाभकारी है बिटामिन B2

हमारे हृदय के अच्छे स्वास्थ्य के लिए विटामिन बी2 यानि राइबोफ्लेविन एक महत्वपूर्ण तत्व होता है, क्योंकि शरीर में जब राइबोफ्लेविन की मात्रा में कमी होती है, तब हमारे शरीर में होमोसिस्टीन के उत्पादन में वृद्धि होने लगती है, और शरीर में होमोसिस्टीन की अतिरिक्त वृद्धि के कारण ब्लड क्लॉटिंग(रक्त का जमाव) और ब्लड क्लॉटिंग के कारण, रक्तवाहिनियों के दुर्घटनाग्रस्त होने या क्षति पहुंचने और इसके परिणामस्वरुप हृदयाघात के जोखिम की आशंका कई गुना बढ़ जाती है, इसलिए विटामिन B2, होमोसिस्टीन की मात्रा को नियंत्रित रखकर, हमारे हृदय को स्वस्थ रखने में अत्यंत उपयोगी व सहायक होता है।

फ्री-रेडिकल्स(मुक्त कणों) से मुकाबला करने में सक्षम है

उच्च एंटी-ऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर विटामिन बी2 (राइबोफ्लेविन), शरीर में ग्लूटेथियोन नामक एंजाइम का उत्पादन करने और उसे बार-बार चक्र के रूप में पुनः प्रयोग करने में मदद करता है। ग्लूटेथियोन नामक एंजाइम हमारे शरीर में पाए जाने वाले हानिकारक फ्री-रेडिकल्स से मुकाबला करने और उन्हें रोकने में बहुत सक्षम होता है। ये हानिकारक फ्री-रेडिकल्स ही हमारे शरीर में कई प्रकार के खतरनाक रोगों जैसे कैंसर के कारक होते हैं, जिनके विरुद्ध हमारा बचाव करने में विटामिन बी2 बहुत सहायक होता है।

स्वस्थ आंखों के लिए गुणकारी है विटामिन बी2

विटामिन बी2 अपने कई विशेष गुणों के कारण मोतियाबिंद व इसके जैसे अन्य आंखों से संबंधित विकारों के, प्रभावी इलाज में बहुत उपयोगी होता है। कुछ अध्ययनों से यह ज्ञात हुआ है कि राइबोफ्लेविन युक्त पूरक आहार का सेवन करने वाले लोगों में, यह मोतियाबिंद को विकसित होने से रोकने में सक्षम होता है। यह विटामिन आंखों की दृष्टि को सामान्य बनाए रखने में भी मदद करता है, इसलिए विटामिन बी2 हर प्रकार से हमारे आंखों के अच्छे स्वास्थ्य और आंखों से संबंधित विकारों को दूर रखने में बहुत उपयोगी होता है।

माइग्रेन सिरदर्द के उपचार में फायदेमंद है

राइबोफ्लेविन या विटामिन बी2 अपने गुणों के कारण, माइग्रेन सिरदर्द के प्रभावी उपचार में सहायक सिद्ध होता है। राइबोफ्लेविन का सेवन, बार-बार और जल्दी-जल्दी आने वाले माइग्रेन के दौरों की संख्या में कमी करने में बहुत उपयोगी होता है, साथ ही प्रत्येक दौरे की आवृत्ति या एक के बाद आने वाले दूसरे दौरे के बीच की समय अवधि को कम करने में तथा माइग्रेन के कुल दौरों की संख्या घटाने में भी बहुत सहायक होता है। इस प्रकार विटामिन बी2 माइग्रेन सिरदर्द में काफी राहत प्रदान करता है।

स्वस्थ त्वचा के लिए लाभदायी है

विटामिन बी2 में कई ऐसे गुण भी उपस्थित होते हैं, जो स्वस्थ त्वचा के विकास के लिए अत्यंत उपयोगी होते हैं। विटामिन बी2 का पूरक आहार के रूप में उचित प्रकार से सेवन, त्वचा की कई समस्याओं जैसे एक्जिमा, कील-मुंहासे, खुजली होना, रूखी-सूखी त्वचा का होना, डर्मेटाइटिस व अन्य त्वचा विकारों आदि के प्रभावी उपचार में बहुत उपयोगी होता है, और इन पर रोक लगाने के साथ ही साथ इन्हें समाप्त करने में भी सक्षम होता है।

अन्य कई समस्याओं के उपचार में भी प्रभावी है

विटामिन बी2 (राइबोफ्लेविन) हमारे शरीर के लिए उपयोगी, एक ऐसा विटामिन है, जो कई प्रकार की शारीरिक समस्याओं और रोगों के प्रभावी उपचार में उपयोग किया जाता है। विटामिन बी2, रूमेटाइड, अर्थराइटिस, एनीमिया, मिर्गी और अल्जाइमर जैसे रोगों के उचित उपचार में भी काफी प्रभावी होता है।


vitamin b2 ke fayde,vitamin b2 ke fayde in hindi,vitamin b2 benefits,vitamin b2 benefits in hindi,vitamin b2 health benefits,vitamin b2 ki kami in hindi,vitamin b2 ki kami se hone wali beemariya in urdu,vitamin b2 ki kami se hone wali problems vitamin b2 kya hai,health tips in hindi video,free hindi advice

कमेंट करें

अपनी कमेंट यहाँ लिखे
यहा आपका नाम लिखे